Hanuman ji Aarti Lyrics

Hanuman Ji ki Aarti Hindi Lyrics


आरती कीजै हनुमान लला की।
दुष्ट दलन रघुनाथ कला की॥
जाके बल से गिरिवर कांपे।
रोग दोष जाके निकट न झांके॥
अंजनि पुत्र महाबल दाई।
सन्तन के प्रभु सदा सहाई॥
आरती कीजै हनुमान लला की।
दे बीरा रघुनाथ पठाए।
लंका जारि सिया सुधि लाए॥
लंका सो कोट समुद्र-सी खाई।
जात पवनसुत बार न लाई॥
आरती कीजै हनुमान लला की।
लंका जारि असुर संहारे।
सियारामजी के काज सवारे॥
लक्ष्मण मूर्छित पड़े सकारे।
आनि संजीवन प्राण उबारे॥
आरती कीजै हनुमान लला की।
पैठी पाताल तो रिजम-कारे।
अहिरावण की भुजा उखारे॥
बाएं भुजा असुर दल मारे।
दाहिने भुजा संतजन तारे॥
आरती कीजै हनुमान लला की।
सुर नर मुनि आरती उतारें।
जय जय जय हनुमान उचारें॥
कंचन थार कपूर लौ छाई।
आरती करत अंजना माई॥
आरती कीजै हनुमान लला की।
जो हनुमानजी की आरती गावे।
बसि बैकुण्ठ परम पद पावे॥

आरती कीज हनुमान लला की।

दुष्ट दलन रघुनाथ कला की।।


HanumanAarti in Tamil/Telgu/Gujrati/Marathi/English Download-


You can Use Below Links to get Hanuman ji ki Aarti in any language of your choice.

Hanuman Aarti in English
Hanuman ji Aarti in Tamil
Hanuman Aarti in Gujrati
Hanuman ji Aarti in Marathi
Hanuman ji Aarti in Punjabi
Hanuman ji Aarti in Bangla


Download Hanuman Aarti In Hindi PDF/MP3
You can download by clicking below  Free Download Hanuman  Aarti in PDF  format and also can Print it.
Download Hanuman Aarti Pdf Format
Download Hanuman Ji ki Aarti Mp3

हनुमान जी की महिमा को आगे शेयर करें

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *